Saturday, December 6, 2008

ज़िन्दगी में हर कोई कभी ना कभी ये ज़रूर सोचता है की आख़िर कब तलक ऐसा ही चलेगा। कुछ लोग आजकल देश की सुरक्षा के बारे में सोच रहे हैं की ऐसा कब तक चलेगा। कोई ये सोच रहा है की नौकरियों में मंदी का दौर कब तक चलेगा.भविष्य कोई नही जानता मगर बदलाव की शुरुआत ख़ुद से करनी है ये पक्का है.